Rating:
4
समय के फूल

समय के फूल

स्मृति के सुर

by लाल चन्द्र (1 review, add another)
Type: Print Book
Genre: Literature & Fiction
Language: Hindi
Price: Rs.190.00 + shipping
This book ships within India only.
Preview
Price: Rs.190.00 + shipping

Processed in 3-5 business days. Shipping Time Extra
Description of "समय के फूल"

जीवन के विविध रूप और रंग हैं। कभी ख़ुशी से झूमता, तो कभी दुःख से व्याकुल मन और शरीर। मानव जीवन अबाध द्रुतगति से निरंतर बढ़ता जा रहा। मनुष्य अपने आसपास घटने वाली समस्त घटनाओं को देखता है, सोचता है, विश्लेषण करता है और अपने भाव और विचार व्यक्त करता है। व्यक्ति इन घटनाओं के प्रभाव के परे नही रह सकता। समय के गर्भ में घटने वाली सारी घटनाएँ व्यक्ति को बहुत कुछ सिखा जाती हैं। अपने अनोखी चिन्तन, तार्किक और वैज्ञानिक सोच की शक्ति से इन स्थितियों और परिस्थितियों से निपटता है, तालमेल बैठाता है और आगे बढ़ जाता है।
व्यक्ति में अद्भुत वैचारिक क्षमता के साथ साथ, अनेकों स्वाभाविक प्रवृतियाँ होती हैं जैसे हँसना, रोना, क्रोधित होना, उत्तेजित होना, डरना, अचंभित होना और सहयोग करना इत्यादि। यही प्रवृतियाँ व्यक्ति की ऊर्जा शक्ति हैं जो मनुष्य को जीवन जीने हेतु प्रेरित करती रहती हैं।
व्यक्ति की काल्पनिक शक्ति उसे अन्य सह्जीवों से अलग करती हैं। कल्पना से विचार पैदा होते हैं। जहाँ कल्पना नही होती, वहाँ विचार सम्भव नही होते।
‘समय की सुगंध- स्मृति के सुर’ विभिन्न समय काल और परिस्थितियों में लिखी गई कविताओं और गीतों का संकलन है। यह सच्चे हृदय और निर्विकार मन के उद्दगार हैं। यह किसी ख़ास सिद्धान्त और किसी विशेष लेखन कला के वशीभूत नही है। यह स्वतंत्र, सार्वभौमिक और निरपेक्ष रूप में प्रकट किया गया है।
कविता और गीत के अन्यान्य विधाओं को समाहित किया गया है जो इस पुस्तक को अधिक रोचक और महत्वपूर्ण बनाता है।
यह पुस्तक किसी विशेष समूह के लिए या किसी समूह को ध्यान में रखकर नही लिखी गई है। इसमें पारंपरिक विधा के उपयोग न होने से थोडा असहज जरूर लग सकता है परन्तु विचारों की गंभीरता और गहराई इसकी प्रतिपूर्ति कर देता है।
यह संकलन यह परिलक्षित करता है कि कविता सम्पूर्ण बन्धनों से मुक्त, पूर्णरूपेण हृदय के उद्गारों और भावों की सीधी और साधारण अभिवयक्ति होनी चाहिए। संकलन के समय कविता के मूल रूप में यथोचित परिवर्तन एवं परिवर्धन किये गए हैं, जो किसी रूप में, काव्य रचना की सुन्दरता को प्रभावित नही करता।
निष्कर्ष रूपेण यह संकलन मनोरंजक, ज्ञानवर्धंक एवं स्वाभाविक अभिव्यक्ति से ओतप्रोत है जो पाठक के मन को सुरभित कर सकता है।  

About the author(s)

लेखक एक स्वतंत्र और उन्मुक्त विचारों का पैरोकार है तथा सामाजिक बुराइयों और अंधविश्वासों पर अपनी कृतियों के माध्यम से पुरजोर कुठाराघात करता है, एक निडर और साहसी व्यक्तित्व के साथ साथ एक मानवप्रेमी और इंसानियत का प्रबल समर्थक और प्रचारक भी है।
लेखक का बचपन से ही लेखन और संगीत में रूचि रही है। साधारण परिवार से ताल्लुक रखने के वजह से पूरा जीवन संघर्ष और सफलताओं से भरा रहा। यद्यपि लेखक की व्यावसायिक भाषा अंग्रेजी है और लेखक की कुछ कृतियाँ अंग्रेजी भाषा में भी प्रकाषित हुई हैं, पर लेखक का साहित्यिक रुझान हिन्दी भाषा की तरफ रही है, जिसमे आपने अपनी बहुत सी काव्य रचनाएँ और प्रथम उपन्यास लिखा।
अपने संघर्षशील जीवन में अपनी रचनाओं के माध्यम से समाज में रचनात्मक, सुधारात्मक और सकारात्मक विचारधारा स्थापित करने का प्रयास करते हैं जिससे समाज और जीवन से बुराइयों का उन्मूलन हो सके और सहृदय और सौहार्द भरे भाईचारे का निर्माण हो सके।

Book Details
ISBN: 
9781521803639
Number of Pages: 
139
Dimensions: 
6 inch x 9 inch
Interior Pages: Black & White
Binding: Paperback (Perfect Binding)
Availability: In Stock (Print on Demand)
Other Books in Literature & Fiction
VISIONS IN WORDS
VISIONS IN WORDS
by Sheela Devi
Curious Case
Curious Case
by Indu. S
thikana diksunyopur
thikana diksunyopur
by in memory of sunil gangopadhyay
Reviews of "समय के फूल"
Write another review
Re: समय के फूल by Lal chandra
9 August 2017 - 8:41pm

एक सार्थक और सारगर्भित प्रयास, जो लेखक के जीवन के विभिन्न पलों को शब्दों में अंकित और लिखित किया गया है। भाषा बहुत ही सहज, सरल और बोधगम्य है। लेखक अपनी बात बहुत ही सारगर्भित और सटीक तरीके से प्रस्तुत करता है।

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.