Rating:
0
...क्‍योंकि भाषा भी एक फ्रैक्‍टल है

...क्‍योंकि भाषा भी एक फ्रैक्‍टल है

by विजेंद्र सिंह चौहान (write a review)
Type: Print Book
Genre: Computers & Internet
Language: Hindi
Price: Rs.225.00 + shipping
Preview
Price: Rs.225.00 + shipping

Processed in 3-5 business days. Shipping Time Extra
Description of "...क्‍योंकि भाषा भी एक फ्रैक्‍टल है"
About the author(s)

ब्‍लॉगर व स्‍तंभकार विजेंद्र सिंह चौहान हिन्‍दी के शुरूआती ब्‍लॉगरों में से हैं। यूनीकोड-पूर्व युग में उनके संपादन में 'इत्रिका' हिन्‍दी की आरंभिक इंटरनेट पत्रिका थी। इनकी पुस्‍तक 'मीडिया व स्‍त्री:एक उत्‍तर विमर्श' भारतेंदु हरिश्‍चंद्र राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार (भारत सरकार) से सम्‍मानित कृति है। इसके अतिरिक्त कई लेख, शोध आलेख, ईप्रकाशन। डाक्‍टरेट शोध साहित्‍येतिहास पर है तथा पोस्‍ट-डाक्‍टरेट स्‍वतंत्र शोध दिल्‍ली के सिटीस्‍केप में दिक् व काल (टाईम व स्‍पेस) पर है। विजेंद्र ब्‍लॉगजगत में अपने ब्‍लॉगों 'मसिजीवी' व 'हिन्‍दी ब्‍लॉग रिपोर्टर' के लिए जाने जाते हैं। जबकि आफलाइन जीवों के लिए दैनिक जनसत्‍ता में ब्‍लॉगजगत की चर्चा का उनका स्‍तंभ 'चिट्ठाचर्चा' खासा पसंद किया जाता रहा है।
,b>संप्रति: दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय के जाकिर हुसैन कॉलेज में हिन्‍दी विभाग में सहायक प्रोफेसर।

Book Details
ISBN: 
9788190976770
Number of Pages: 
148
Dimensions: 
5 inch x 8 inch
Interior Pages: Black & White
Binding: Paperback (Perfect Binding)
Availability: In Stock (Print on Demand)
Other Books in Computers & Internet
Oracle Siebel BPEL Guide
Oracle Siebel BPEL Guide
by MD AZIZUDDIN AAMER
ETHERNET NETWORK TECHNOLOGY
ETHERNET NETWORK TECHNOLOGY
by Dr. Satish Patel
Reviews of "...क्‍योंकि भाषा भी एक फ्रैक्‍टल है"
No Reviews Yet! Write the first one!

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.