Rating:
0
Jamana Hans Pada (eBook)

Jamana Hans Pada (eBook)

जमाना हँस पड़ा

by विमल कुमार शुक्ल 'विमल' (write a review)
Type: e-book
Genre: Poetry
Language: Hindi
Price: Rs.50.00
Available Formats: PDF Immediate Download on Full Payment
Preview
Description of "Jamana Hans Pada (eBook)"

कवितायें प्रकृति का स्पन्दन हैं कवि ने इस स्पंदन को अनुभव किया और कवितायें प्रस्फुटित हुईं| यह कवि का प्रथम काव्य संग्रह है| इसमें कवि ने अपनी चुनिन्दा रचनाओं को स्थान प्रदान किया है| आशा है पाठक इस पुस्तक का रसास्वादन ही नहीं करेंगे अपितु प्रेरित भी होंगे|

About the author(s)

नाम-विमल कुमार शुक्ल 'विमल'
ग्राम-अयारी, पोस्ट-बिजगवां कला, जनपद-हरदोई
शिक्षा- M.A., B.Ed.
रचनायें-फुटकर कविताएँ व कहानियाँ

Book Details
ISBN: 
9789353114701
Publisher: 
VIMAL KUMAR SHUKLA
Availability: Available for Download (e-book)
Other Books in Poetry
கீதப் பூங்கொத்து
கீதப் பூங்கொத்து
by புதுவை Late Professor N.சுப்ரமணிய ஐயர்
यादगार हो तुम
यादगार हो तुम
by महेश रौतेला
A Star in the Cloud
A Star in the Cloud
by Sonali Roy
Reviews of "Jamana Hans Pada (eBook)"
No Reviews Yet! Write the first one!

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.