Rating:
0
Taki Bachpan Khila Rahe (eBook)

Taki Bachpan Khila Rahe (eBook)

Bal Kavita Sangrah

by Madhur Kulshreshtha (write a review)
Type: e-book
Genre: Children
Language: Hindi
Price: Rs.50.00
Available Formats: PDF Immediate Download on Full Payment
Preview
Description of "Taki Bachpan Khila Rahe (eBook)"

बच्चों से
हँसो, खूब हँसो।
अट्टहास करो।
हर चीज को छूकर महसूस करो।
प्रकृति का अंश बनकर जीओ।
पशु पक्षियों को देखो उन्हें बचाने का प्रयास करो।
बचपन में बचपन को बचाए रखो।

About the author(s)

मधुर कुलश्रेष्ठ हिंदी साहित्य के नए उभरते साहित्यकारों में विशिष्ट ख्याति प्राप्त साहित्यकार हैं। जमीनी विषयों तथा सामाजिक एवं ग्रामीण सरोकारों से जुड़ी कहानियों के माध्यम से अपनी पहचान बनाने वाले मधुर कुलश्रेष्ठ के अब तक दो कहानी संग्रह - ‘‘आकाश अधूरा है’’ तथा ‘‘अनन्त की तलाश में’’ तथा एक उपन्यास - ‘‘अपने-अपने डंक’’ प्रकाशित हो चुके हैं। विभिन्न राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक पुरस्कारों से सम्मानित मधुर कुलश्रेष्ठ की कहानियाँ एवं व्यंग्य रचनाएँ आकाशवाणी से प्रसारित व अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं।
बाल साहित्य के क्षेत्र में यह पहली दस्तक है।

Book Details
Availability: Available for Download (e-book)
Other Books in Children
PUNE
PUNE
by Dinesh Shivnath Upadhyaya
A Magical Song of the Universe
A Magical Song of the Universe
by Subodh Vinchurkar
Seasons and Festivals
Seasons and Festivals
by YUVIKA SHARMA
Reviews of "Taki Bachpan Khila Rahe (eBook)"
No Reviews Yet! Write the first one!

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.