Rating:
4
प्यार अभी बाकी है / Pyar Abhi Baaki Hai

प्यार अभी बाकी है / Pyar Abhi Baaki Hai

Pyar Abhi Baaki Hai - Thakur Deepak Singh Kavi

by दीपक सिंह (Deepak Singh) (1 review, add another)
Type: Print Book
Genre: Literature & Fiction, Poetry
Language: Hindi
Price: Rs.145.00 + shipping
This book ships within India only.
Preview
Price: Rs.145.00 + shipping

Processed in 3-5 business days. Shipping Time Extra
Description of "प्यार अभी बाकी है / Pyar Abhi Baaki Hai"

युवा वर्ग को ख़ास ध्यान में रख कर, इंजीनियर से लेखक बने एक युवा कवि का एक ऐसा काव्य संग्रह जो हिंदी साहित्य की युवा वर्ग से ना जुड़ पाने की अवधारणा को तोड़ता है| बदलते समाज के साथ काव्य के प्रति घटते रुझान के बीच यह संग्रह बहुत ही ख़ूबसूरती से लिखा गया है| अब युवा खुद को हिंदी साहित्य से जुड़ा महसूस करेंगे|

प्रेम, विचार, व्यंग्य और सामाजिक बिन्दुओं को प्रकाश में रख कर लिखी गयी कविताओं का अनूठा संग्रह या यूँ कहे कि युवा संग्रह|

About the author(s)

जन्म : १ मार्च , १९९३, ग्राम-कबूतरा, आजमगढ़, उत्तरप्रदेश, भारत

चर्चित कवि, कथाकार, एवँ संपादक हैं। आपकी माता श्रीमति मीरा सिंह एवं पिता स्वर्गीय श्री अमरजीत सिंह एक साधारण परिवार से संबंध रखते हैं। सन् १९९९ में पिता के देहांत के बाद आपकी शिक्षा आपके चाचा श्री अरूण सिंह के कर‍-कमलों से निरंतर चलती रही| सुप्रसिद्ध हिन्दी कवयित्री तारा सिंह द्वारा प्रकाशित वेब हिन्दी पत्रिका स्वर्गविभा में आपकी ४० से भी अधिक रचनाएँ प्रकाशित हैं। आप 'लिट्रेचर इन इण्डिया' हिन्दी मासिक वेब पत्रिका के संस्थापक, प्रधान संपादक एवं संरक्षक हैं। आपकी शिक्षा 'चिल्ड्रेन सीनियर सेकेण्डरी स्कूल', आजमगढ़, उत्तरप्रदेश से हाईस्कूल एवँ इण्टरमीडिएट तक हुई। तत्पश्चात आपने उत्तर प्रदेश प्राविधिक विश्वविद्यालय से कंम्यूटर साइंस में बी.टेक. की डिग्री हासिल की।

साहित्य यात्रा -

• प्रथम प्रकाशन 'आवाज़' पत्रिका में
• स्थानीय एवँ राष्ट्रीय समाचार पत्रों में रचनाएँ प्रकाशित
• अखिल भारतीय युवा कवि सम्मेलन में सहभागिता
• वर्ष 2011 से निरंतर ब्लाग लेखन
• भारत की प्रमुख एवँ प्रतीष्ठित हिन्दी वेबसाईट स्वर्गविभा में 40 से ज्यादा रचनाएँ प्रकाशित
• वर्ष 2012 में 'लिट्रेचन इन इण्डिया' ब्लाग की स्थापना
• वर्ष 2014 में 'लिट्रेचर इन इण्डिया' वेब पत्रिका की स्थपना
-
परिचयकर्ता – स्वेता सिंह

Book Details
Publisher: 
LiteratureinIndia.com
Number of Pages: 
67
Dimensions: 
6 inch x 9 inch
Interior Pages: Black & White
Binding: Paperback (Perfect Binding)
Availability: In Stock (Print on Demand)
Other Books in Literature & Fiction, Poetry
The Keepers
The Keepers
by Lede-e-miki Pohshna
Reviews of "प्यार अभी बाकी है / Pyar Abhi Baaki Hai"
Write another review
Re: प्यार अभी बाकी है by Mridulendu
13 April 2016 - 3:01pm

इस संकलन को पढ़कर आनंद आ गया. प्रेम की ऐसी अनुभूतियां जो कही बताई बातें कहें और फिर भी रोचक और नयी लगें, ये प्रतिभा कवि दीपक सिंह जी में है. कवि को साधुवाद और भविष्य की शुभकामनाएं।

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.