Rating:
0
गहरे अहसास - जितने दूर, उतने पास

गहरे अहसास - जितने दूर, उतने पास

by दीपिका बंसल (write a review)
Type: Print Book
Genre: Poetry
Language: Hindi
Price: Rs.228.00 + shipping
Preview
Price: Rs.228.00 + shipping

Processed in 3-5 business days. Shipping Time Extra
Description of "गहरे अहसास - जितने दूर, उतने पास "

मेरी ये पुस्तिका हिंदी भाषा में लिखी हुई अठारह कविताओं का संकलन है।

इन कविताओं में धूप छाओं का रस है, प्रेम की अनुभूति है और मन की उलझनों की झलक भी है।

मैंने जीवन के विभिन्न रूपों, हालातों को अपनी कविताओं के माध्यम से अभिव्यक्त करने की कोशिश की है।

About the author(s)

मै आर्मी से रिटायर्ड एक ( शोर्ट सर्विस कमीशंड) अधिकारी हूँ। इसके अलावा मैंने कॉर्पोरेट कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजमेंट का काम भी किया है। अब एक बैंक में कार्यरत हूँ।

मुझे लिखने की इच्छा बचपन से ही थी मगर अपने व्यस्त जीवन से अब तक कभी लिखने के लिए वक़्त नहीं निकाल पायी। अब जाके अपने बचपन से लेखक बनने के सपने को पूरा करने का प्रयास कर पायी हूँ।

Book Details
Publisher: 
Pothi.com
Number of Pages: 
40
Dimensions: 
5 inch x 7 inch
Interior Pages: Black & White
Binding: Paperback (Saddle Stitched)
Availability: In Stock (Print on Demand)
Other Books in Poetry
From My Heart (100 English Poems)
From My Heart (100 English Poems)
by Lakshmi Krishnadas Pai
A Date With The Blue Bird
A Date With The Blue Bird
by Jyotirmoy Mallik
बड़ी दूर निकल आया हूँ।
बड़ी दूर निकल आया हूँ।
by हरिपाल सिंह रावत
Manthan
Manthan
by Alok Kumar
Reviews of "गहरे अहसास - जितने दूर, उतने पास "
No Reviews Yet! Write the first one!

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.