Rating:
0
पद मयी हिंदी में श्रीमद्भगवद्गीता  shrimadbhagwadgita with hindi poetry (eBook)

पद मयी हिंदी में श्रीमद्भगवद्गीता shrimadbhagwadgita with hindi poetry (eBook)

आत्म तोषिणी गीता atmtoshini gita

by जुगुल किशोर तिवारी jugul kishore tewari (write a review)
Type: e-book
Genre: Religion & Spirituality
Language: Hindi, Sanskrit
Price: Rs.0.00
Available Formats: PDF
Preview
Description of "पद मयी हिंदी में श्रीमद्भगवद्गीता shrimadbhagwadgita with hindi poetry (eBook)"

सरल शब्दों में गीता का पद्यानुवाद प्रस्तुत पुस्तक में है साथ ही गीता का मूल रूप आसान संस्कृत में यथास्थान दिए गए हैं। गायन योग्य दोहा छंद में जिसे आत्म तोषिणी गीता नाम से भी प्रकाशित किया गया है। इसके गुटका सीडी और वीसीडी भी उपलब्ध हैं।

About the author(s)

गीता का सरल हिंदी में पद्यानुवाद उत्तर प्रदेश में कार्यरत पुलिस अधिकारी जुगुल किशोर तिवारी द्वारा किया क
गया है। आप पुलिस विभाग में अवश्य कार्यरत हैं पर सदय सहृदय नैष्ठिक कर्मयोगी और आबाल वृद्ध सबके चहेते हैं। विभाग के दायित्व साहित्य और दर्शन के हितभाव से पूरा करते हैं परं अन्य सामाजिक कार्यों में भी उपयोगी भागीदारी रहती है। पुलिस विभाग और समाज को और अधिक ऐसे अधिकारियों एवं व्यक्तित्वों व उपकारियों की आवश्यकता है

Book Details
ISBN: 
9788190891295
Publisher: 
janki publication
Availability: Available for Download (e-book)
Other Books in Religion & Spirituality
यात्रा - अंतिम लक्ष्य कि ओर
यात्रा - अंतिम लक्ष्य कि ओर
by श्री आदर्श भैया
Jishuchorit (Bengali)
Jishuchorit (Bengali)
by Satyen Das
Reviews of "पद मयी हिंदी में श्रीमद्भगवद्गीता shrimadbhagwadgita with hindi poetry (eBook)"
No Reviews Yet! Write the first one!

Payment Options

Payment options available are Credit Card, Indian Debit Card, Indian Internet Banking, Electronic Transfer to Bank Account, Check/Demand Draft. The details are available here.